Bandwidth क्या है और इसे कण्ट्रोल कैसे किया जाता है?

0

Bandwidth के बारे में आपने कभी न कभी सुना होगा| आज हम आपको यही बताने वाले है की Bandwidth क्या है और आपको कितना Bandwidth का जरुरत है| Bandwidth meaning in hindi?

Bandwidth शब्द का कई सारा technical meanings होता है, लेकिन इंटरनेट के लोकप्रिय होने के बाद से आमतौर पर इसका मतलब होता है Per unit of time में कितना जानकारी एक transmission medium (जैसे एक internet connection) संभाल सकता है|

एक Internet Connection जिसमे बड़ा Bandwidth होता है वो कम Bandwidth वाले Internet Connection के मुकाबले Data (जैसे की video file) को ज्यादा तेज़ी से Move कर सकता है|

Bandwidth को आमतौर पर bits per second के रूप में व्यक्त किया जाता है जैसे की 60 Mbps या 60 Mb/s जिससे पता चलता है की हर सेकंड में data transfer rate- 60 million bits (megabits) का है|

> PDF File क्या है और PDF File को कैसे खोले?

Bandwidth के बारे में समझना जरुरी क्यूँ है?

Bandwidth एक technical term है और इसके बारे में जानना आपको उतना जरुरी नहीं है अगर आप Tech Products में रूचि नहीं रखते है या फिर Internet Hardware का Set Up करने का आपको कभी जरुरत नहीं पड़ता है|

बल्कि वास्तव में अगर आप सिख जाएंगे की Bandwidth का मतलब क्या होता है और ये आपका अपना Network में कैसे अप्लाई होता है, तब आप अपने Set Up के बारे में समझ पाएंगे जिसके कारण आपको जब जरुरत पड़ेगा तब आपको faster internet connection मिलेगा|

कभी कभी जब आपका Internet Connection धीमा हो जाता है तब आप Bandwidth के बारे में सोचते है, तब आपको लगता है की आपको ज्यादा Bandwidth खरीदने का जरुरत है या फिर आप जितना पैसा दे रहा हो आपको उतना Service नहीं मिल पा रहा है|

या फिर आप एक Gaming console या video streaming service को खरीदने वाले है और आप अपने नेटवर्क के बाकी हिस्सों को नकारात्मक रूप से प्रभावित किए बिना ऐसा कर सकते हैं या नहीं, इसकी सटीक समझ की आवश्यकता आपको है| ज्यादातर लोगो के लिए यही 2 चीज़े है जो सबसे ज्यादा Bandwidth का उपयोग करता है|

आपको कितना Bandwidth का जरुरत है?

आपको कितना Bandwidth का जरुरत है ये इसपर निर्भर है की आप अपने internet connection से क्या क्या करने वाले है| ज्यादातर परिस्थिति में जितना ज्यादा Bandwidth होगा उतना अच्छा है, लेकिन ये आपके Budget पर निर्भर है|

आमतौर पर, अगर आप अपने प्लान का कुछ नहीं करते है, सिर्फ Facebook का उपयोग करते है और कभी कभी Videos देखते है, तब आपके लिए low-end high-speed plan ठीक काम करता है|

और अगर आपके पास कुछ TV है जिसमे आप Netflix को Stream करने वाले है और साथ में आपके पास कुछ Computers, Laptops और अन्य Devices भी है, तब आप जितना बड़ा Bandwidth ले उतना अच्छा है| इसमें आप कोई समझौता नहीं कर सकते है|

Mbps और MBps में क्या अंतर है?

ये समझना जरुरी है की Bandwidth को कोई भी Unit में Express किया जा सकता है जैसे की (bytes, kilobytes, megabytes, gigabits, इत्यादि).

आपका ISP एक Term का उपयोग कर सकता है, एक Testing service कोई दूसरा Term का उपयोग कर सकता है और एक video streaming service भी कोई अन्य Terms का उपयोग कर सकता है|

अगर आप किसी internet service के लिए ज्यादा पैसे का भुगतान करना नहीं चाहते तब आपको ये समझना भी जरुरी है की ये सब Terms कैसे सम्बंधित है और उनके बीच में Convert कैसे करे|

उदाहरण के तौर पर, 15 MBs और 15 Mbs ये दोनों एक जैसा नहीं है| पहला वाला का मतलब 15 megaBYTES है और दूसरा वाला का मतलब 15 megaBITS है| इन दोनों में 8 का अंतर है क्यूंकि 1 Byte में 8 Bits होता है|

अगर इन दोनों bandwidth को megabytes (MB) में लिखा जाए तब ये 15 MBs और 1.875 MBs होगा (क्यूंकि 15/8=1.875) होता है| हालाकि जब इसे megabits (Mb) में लिखा जाए तब पहला वाला 120 Mbs होगा क्यूंकि (15×8=120) और दूसरा वाला 15 Mbps होगा|

Bandwidth Control

कुछ सोफ्टवेयर में आप एक Limit रख सकते है, की कौन सा प्रोग्राम को कितना Bandwidth का उपयोग करने का अनुमति दिया जाए| ये उस समय काफी मददगार होता है जब आप चाहते है की कोई प्रोग्राम अच्छे से काम करे, लेकिन अगर वो प्रोग्राम Full Speed में काम नहीं भी करे तब भी आपको कोई दिक्कत नहीं है| Bandwidth के इसी Limit को Bandwidth Control कहा जाता है|

कुछ Download Managers जैसे की Free Download Manager में Bandwidth Control का सपोर्ट मौजूद रहता है| और इसके साथ साथ कई सारा online backup services, cloud storage services, torrenting programs और routers में भी Bandwidth control का सपोर्ट रहता है| ये सभी Services और Programs में बहुत ज्यादा Bandwidth का उपयोग होता है| तो इसके लिए ये विकल्प बहुत अच्छा है की हम Bandwidth के Limit को कम कर दे|

उदाहरण के तौर पर, मान लीजिए आपको बहुत बड़ा 10 GB का File को डाउनलोड करना है| इसे डाउनलोड होने में घंटो का समय लग सकता है, और साथ में ये आपके पास उपलब्द सभी Bandwidth का उपयोग कर लेगा| इससे अच्छा तो ये है की आप एक Download Manager का उपयोग करे, और प्रोग्राम को बताए की वे आपके पास उपलब्द Bandwidth का सिर्फ 10% ही उपयोग करे|

इससे होगा ये की वो File डाउनलोड होने में थोड़ा ज्यादा समय लगेगा, लेकिन इससे आपका बहुत ज्यादा Bandwidth भी बचेगा जिससे आप video streaming जैसे अन्य कामो को आसानी से कर पाएँगे|

Network performance सिर्फ इस बात पर निर्भर नहीं है की आपके पास कितना Bandwidth उपलब्द है| कुछ और भी चीज़ है जिससे Network performance पर असर पड़ता है वो- latency, jitter, packet loss इत्यादि है| कुछ और भी कारण है जिससे Slow internet speed मिलता है, जैसे की- पुराना hardware, virus, browser add-ons, कमजोर Wi-Fi connection इत्यादि|