SpaceX क्या है और किसने बनाया? पूरी जानकारी हिंदी में

0

Space Exploration Technologies Corp, SpaceX के रूप में व्यवसाय कर रहा है, ये एक निजी अमेरिकी एयरोस्पेस निर्माता और अंतरिक्ष परिवहन सेवा कंपनी है जिसका Head Office हैथॉर्न, कैलिफ़ोर्निया में है| 2002 में अंतरिक्ष परिवहन लागत को कम करने और मंगल ग्रह के उपनिवेशीकरण को सक्षम करने के लक्ष्य के साथ उद्यमी एलन मस्क ने इसकी स्थापना की थी| SpaceX ने बाद मे Falcon launch vehicle family और Dragon spacecraft family को विकसित किया है| What is SpaceX in Hindi?

SpaceX क्या है?

spacex in hindi

SpaceX एक Expoloration Techonologies Corporation है जिसे सन 2002 में CEO और SpaceX लीड डिज़ाइनर (Elon Musk) द्वारा स्थापित किया गया था| ये एक Private रॉकेट और अंतरिक्ष यान कंपनी है| Paypal का स्थापना भी Elon Musk ने ही किया था और साथ ही वे Tesla Motors के भी CEO है|

SpaceX में 6000 से भी ज्यादा कर्मचारी काम करते है| SpaceX को सन 2002 में $100 मिलियन की लागत के साथ Elon Musk ने शुरू किया था| और उनका सपना है सन 2030 तक मंगल ग्रह में लोगो को बसाने का|

SpaceX का इतिहास

SpaceX के संस्थापक Elon Musk का मानना था की मंगल ग्रह पर जीवन होना चाहिए| वो लोगो को मंगल ग्रह में बसाना चाहते थे| तो इसी सिलसिले में वे रूस गए और इसके बारे में वहां उन्होंने बात की| तो वहां के Space Agency ने इनसे 1 Rocket का $8 मिलियन माँगा| तो इस कीमत वो ज्यादा बताकर वे रूस से वापस आ गए|

क्यूंकि 1 राकेट का $8 मिलियन बहुत ज्यादा था तो वे सोचने लगे की क्यूँ न Reusable Rocket बनाया जाए| तभी इन्होने SpaceX कंपनी का स्थापना किया| Rocket को Orbit में पहुँचाना इनका मकसद नहीं था बल्कि सस्ते कीमत पर Rocket को Orbit में पहुँचाना इनका मकसद था| और उसी Rocket फिर से वापस लाकर उसे Reuse किया जा सके|

जब इन्होने अपना पहला Rocket को Launch किया तो इनके इंजन में आग लग गई जिनसे इनको बहुत नुक्सान हुवा| इनका दूसरा राकेट स्पेस में तो गया लेकिन ऑर्बिट में नहीं पहुँच पाया| और तीसरी बार स्पेस में जाते ही Offroot हो गया| इनका पास जितना पैसा था सब इन्ही राकेट के Launch में ख़तम हो गया| फिर SpaceX कंपनी लगभग बर्बाद होने के कगार पर आ चूका था|

लेकिन Elon Musk ने हार नहीं माना और सोचा 1 बार और कोशिश करके देखूंगा| फिर उन्होंने ऐलान किया की चौथा राकेट कुछ ही महीनो में Launch करने वाले है| और इसके लिए इन्होने अपना सब कुछ दाव पर लगा दिया, अपना घर तक बेच दिया और किराये के मकान में रहने लगे और लोगो से बहुत कर्जा भी लिया|

और आखिरकार चौथे बार में इन्हें सफलता मिला और सिर्फ सफलता ही नहीं बल्कि इन्हें NASA से $1.5 अरब का Contract भी मिला| और अब फिर NASA ने इन्हें उनके लिए काम करने का ऑफर भी दिया|

SpaceX का मकसद क्या है?

Elon Musk का अलसी मकसद है लोगो को मंगल ग्रह में बसाने का| लेकिन एक कंपनी ऐसा कैसे कर सकता है? अंतरिक्ष परिवहन लागत को बहुत कम करके ऐसा किया जा सकता है|

Musk का मानना है की किसी भी चीज़ को Reuse करना इंसानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण हो गया है| Elon Musk का मानना है की पृथ्वी कभी भी किसी Asteroid से टकरा सकता है या फिर अगर Third World War हुवा तो पृथ्वी में रहना असंभव हो जाएगा| क्यूंकि ये हुवा तो पृथ्वी नष्ट हो सकता है| तो उनका कहना है की हमें इसके लिए एक Backup Plan बना लेना चाहिए| तो इसलिए वे ऐसे सस्ते Reusable Rocket बनाना चाहते है ताकि वे लाखो-करोरो लोगो को अगले 40 से 100 साल के अन्दर मंगल ग्रह पर ले जा सके|

SpaceX और अंतरिक्ष यात्रा

spacex space travel

SpaceX को Space Industry का एक बड़ा नाम माना जाता है| हालाकि SpaceX ने अभी तक स्पेस का कोई ट्रिप नहीं किया है | SpaceX अभी किसी आम इनसान को स्पेस में ले जाने के लिए तैयार नहीं है|

लेकिन कभी कभी ये जरुर बताया है की ये कुछ लोगो को चाँद पर और मंगल ग्रह पर ले जाएँगे| कंपनी बड़े और महंगे राकेट को डेवेलोप कर रहा है| अगर कोई व्यक्ति इतने महंगे कीमत पर चाँद और मंगल ग्रह में जाना चाहते है तो SpaceX उन्हें ले जाने के लिए तैयार है|

क्या SpaceX NASA के साथ काम करता है?

spacex vs nasa

US national space agency ( NASA ) और SpaceX पिछले एक दसक से एक साथ मिलकर काम कर रहे है| SpaceX के पास NASA का Commercial Resupply Services (CRS) contracts सन 2008 से ही है जिससे SpaceX को $1.6 अरब का फायदा हुवा है| ये यात्रा दिसम्बर 2010 से शुरू हुवा और अभी तक चल रहा है|

हालाकि ये वो जगह नहीं है जहाँ से SpaceX सबसे ज्यादा पैसा कमाता है| SpaceX बड़े Satellites और military payloads को Orbit तक ले जाता है और साथ ही इन्होने 100 से अधिक राकेट को भी Launch किया| | 2018 में ही उन्होंने 19 राकेट को Launch किया| इन सब चीजों में SpaceX ने $12 अरब कमाया है|

SpaceX ने लॉन्च किया सबसे पावरफुल फॉल्कन हेवी रॉकेट

अमेरिका में दुनिया का सबसे शक्तिशाली रॉकेट लॉन्च किया गया है| टेस्ला के अरबपति मालिक एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स ने फाल्कन हेवी रॉकेट को फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर से लॉन्च किया|

वर्तमान में दूसरे रॉकेट अपने साथ जितना भार ले जा सकते हैं, फॉल्कन हेवी उसके मुकाबले दोगुना भार को ले जाने की क्षमता रखता है| फाल्कन हेवी रॉकेट का वजन लगभग 63.8 टन है, जो तकरीबन दो स्पेस शटल के वजन के बराबर है| 27 मर्लिन इंजन वाले इस रॉकेट की लंबाई 230 फुट है|

फॉल्कन हेवी रॉकेट के साथ टेस्ला रोडस्टर स्पोर्ट्स कार भी स्पेस भेजी गई है|

कैलिफोर्निया के हावथोर्न हेडक्वॉर्टर से लाइव स्ट्रीमिंग के जरिए कंपनी के कर्मचारियों ने फाल्कन हेवी रॉकेट लॉन्चिंग का सीधा प्रसारण देखा| इस खास नजारे को देखने के लिए दर्शकों ने स्पेस सेंटर से करीब 8 किलोमीटर दूर कोकोआ बीच के पास कैंपग्राउंड तैयार किया था|

स्पेसएक्स के सीईओ की मानें तो इस रॉकेट की पहली उड़ान की सफलता 50 प्रतिशत थी लेकिन यह सफलतापूर्वक लॉन्च होने में कामयाब रहा. लगभग 50 साल पहले जिस पैड से मानव का चांद पर जाने का सफर शुरू हुआ, उसमें स्पेसएक्स ने अपने फाल्कन-9 और फाल्कन हेवी रॉकेटों के अनुकूल बदलाव लाया है|

रॉकेट लॉन्च के संबंध में स्पेसएक्स के मालिक एलन मस्क ने इससे पहले ट्वीट कर के कहा था, ‘पूरी दुनिया से लोग सबसे बड़े रॉकेट और आतिशबाजी के प्रदर्शन को देखने के यहां लिए पहुंच रहे हैं| लगभग 50 साल पहले जिस पैड से मानव का चांद पर जाने का सफर शुरू हुआ, उसमें स्पेसएक्स ने अपने फाल्कन 9 और फाल्कन हेवी रॉकेटों के अनुकूल बदलाव लाया है|

यह रॉकेट सैटरन 5 के बाद सबसे ज्यादा लोड लेकर जाने वाला रॉकेट होगा. केप केनेडी स्पेस सेंटर से ही सबसे पहले ‘मून मिशन’ की भी शुरुआत की गई थी.

दुनिया के इस सबसे शक्तिशाली रॉकेट का टेस्ला के अरबपति एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स ने निर्माण किया है|