Super AMOLED vs Super LCD: दोनों में क्या अंतर है?

0

Super AMOLED (S-AMOLED) और Super LCD (IPS-LCD) दो अलग अलग Display Technology है जो अलग अलग तरीको के Electronics में उपयोग होता है| Super Amoled पुराने OLED Display का Advanced Version है और Super LCD पुराने LCD का Advanced Version है|

Smartphones, tablets, laptops, cameras, smartwatches, and desktop monitors कुछ Devices है जो Amoled या LCD का उपयोग करता है|

सब चीजों को देख जाए तो Super Amoled को Super LCD से बेहतर माना जाता है, ये बताना हर परिस्थिति में इतना आसान नहीं है| इस पोस्ट को पूरा पढ़े ताकि आपको समझ में आ जाएगा की कौन सा Display Technology आपके लिए सही है|

Super Amoled क्या है?

Super amoled

Super Amoled का Full Form है super active-matrix organic light-emitting diode. ये एक प्रकार का Display है जो Organic Materials का उपयोग करके हर एक Pixel के लिए Light का उत्पाद करता है|

Super Amoled Displays का एक ख़ास बात ये है की जो Layer, Touch को Detect करता है उसे सीधे स्क्रीन में Embed किया जाता है न की कोई अलग से Layer बनाया जाता है| इस तरीके से Super Amoled को Amoled से अलग माना जाता है|

IPS LCD क्या है?

Super LCD वैसे तो IPS LCD के जैसा ही है| IPS LCD का Full Form है- In-plane switching liquid crystal display. ये नाम एक LCD Screen को दिया जाता है जो In Plane Switching (IPS) का उपयोग करता है| LCD Screens सभी Pixels के लिए Light का उत्पाद करने के लिए Backlight का उपयोग करता है, और इसके Brightness पर प्रभाव डालने के लिए हर Pixel Shutter को बंद किया जा सकता है|

Super LCD को बनाया गया है TFT LCD (thin-film transistor) में हुए प्रॉब्लम का समाधान करने के लिए, ताकि इसमें Wider Viewing Angles का सपोर्ट दिया जा सके और बेहतर Color भी दिया जा सके|

Super AMOLED vs Super LCD: दोनों में अंतर

Super Amoled और IPS LCD को Compare करके ये बताना आसान नहीं है की कौन सा Display Technology ज्यादा बेहतर है| ये दोनों Display कुछ तरीके से एक जैसा ही है और कुछ तरीके से अलग भी है|

उदाहरण के तौर पर, अगर आपको Display में Deeper Blacks और Brighter Colors ज्यादा पसंद है तो आपको Super Amoled Display ही लेना चाहिए क्यूंकि यही एक जगह है जहाँ Super Amoled बहुत ही बढ़िया प्रदर्शन करता है| और अगर आपको Sharp Images चाहिए और अपने Device को Outdoors में उपयोग करना चाहते है तो Super LCD आपके लिए बेहतर है|

Image and Color

Super Amoled Displays में Dark Black काफी अच्छे तरीके से देखा जा सकता है क्यूंकि जिस Pixel को Black होने का जरुरत है वो पुरे तरीके से Black हो सकता है और हर एक Pixel का Light बंद हो सकता है| ये Super LCD के साथ नहीं होता क्यूंकि किसी Pixel को Black होने का जरुरत पड़ता है तो Backlight ON ही रहता है और ये स्क्रीन के Darkness पर प्रभाव दाल सकता है|

अगर आप स्क्रीन का उपयोग बाहर में Bright Light में कर रहे है तो Super LCD का उपयोग करना आसान है लेकिन S-AMOLED screens में Glass का Layers कम होता है और ये Light को कम Reflect करता है| तो इसका कोई ठोस जवाब नहीं है की Bright Light में कौन सा Display बेहतर है|

Size

Super Amoled में Backlight Hardware नहीं होता है और Touch और Display एक ही स्क्रीन पर रहता है, जिसके लिए Amoled Screen का साइज़ IPS LCD से छोटा होता है|

ये एक फायदा है जो Super Amoled Display में स्मार्टफोन के मामले में मिलता है क्यूंकि Super Amoled Display का उपयोग करके स्मार्टफोन को पतला बनाया जा सकता है|

Power Consumption

IPS-LCD displays में Backlight होता है जिसे ज्यादा पॉवर का जरुरत पड़ता है| तो जो Devices IPS LCD Screen का उपयोग करता है उसे Super Amoled के मुकाबले ज्यादा पॉवर लगता है क्यूंकि Super Amoled Display में Backlight का उपयोग नहीं किया जाता है|

उदाहरण के तौर पर आप किसी Video को Play कर रहे है जिसमे बहुत ज्यादा Black Area है तो IPS LCD Screen के मुकाबले Super Amoled ज्यादा पॉवर बचाता है क्यूंकि इसमें Pixels को OFF किया जा सकता है और कोई Light का उत्पाद करने का जरुरत नहीं पड़ता है|

Price

IPS LCD Screen में Backlight होता है जबकि Super Amoled Screen में Backlight नहीं होता है, लेकिन IPS LCD में एक अतिरिक्त Layer होता है जिसमे Touch का सपोर्ट होता है और Super AMOLED displays में ये चीज़ स्क्रीन पर ही बनाया जाता है|

ये कुछ कारण है और कुछ अन्य कारण है जैसे Color Quality और Battery Performance, जिसके वजह से ये बोलना सही है की Super Amoled Screen को बनाना ज्यादा महंगा पड़ता है| और जिस Device में Super Amoled Screen का उपयोग होता है वो IPS LCD Screens वाले Device के मुकाबले ज्यादा महंगा होता है|