iPhones में Android Phones से कम RAM क्यूँ होता है?

0

IOS और Android दुनिया का 2 सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाला mobile operating systems है और ये निश्चित तौर पर तय है की IOS और Android का मुकाबला कई सालो तक ऐसे ही चलता रहेगा| iPhone vs Android Ram- Which is better?

iphone vs android ram

जब भी हम IOS vs Android का बात करते है तब हमारे मन सबसे पहला सवाल ये आता है की iPhones में Android Phones के मुकाबले हमेशा से कम RAM क्यूँ होता है|

उदाहरण के तौर पर 2014 में Launch हुवा iPhone 6 Plus में 1 GB RAM दिया गया था और 2014 में ही Launch हुवा Samsung का Galaxy Note 4 में 3 GB RAM दिया गया था|

और 2020 में भी ये सिलसिला चालु है- जैसे की 2020 के iPhone 12 Pro Max में 6 GB RAM दिया गया है और Samsung का Galaxy Note 20 Ultra में 12 GB RAM दिया गया है|

आप किसी भी Flagship Android Phone को iPhone के साथ Compare करेंगे तब आप देखोगे की iPhones में हमेशा से ही Android Phones के मुकाबले कम RAM होता है|

और चौकाने वाला बात ये है की iPhones स्पीड के मामले में हमेशा से ही Android Phones के बराबर ही रहा है और कई बार Android Phones से iPhone काफी ज्यादा स्पीड भी रहता है|

कई बढ़िया Android smartphones में 8 GB RAM होता है, और किसी किसी में 12 GB तक भी RAM होता है| Apple IPhones को दुनिया का सबसे स्पीड Phone माना जाता है और इसके लिए IPhone को इतना ज्यादा RAM का भी जरुरत नहीं पड़ता है|

तो आखिर ऐसा क्यूँ होता है और कैसे होता है निचे हम इसी के बारे में बात करेंगे|

दुनियाभर में कितना Apple iPhone बेचा जा चूका है?

Android Phones को तेज़ी से चलने के लिए ज्यादा RAM का जरुरत क्यूँ पड़ता है?

iphone vs android ram

इसका जवाब बिलकुल सिंपल सा है| Android OS के programming language के कारण Android Phones को तेज़ी से चलने के लिए iPhones से ज्यादा RAM का जरुरत पड़ता है|

Android Operating System और Android Apps के एक बड़े हिस्से को JAVA में लिखा जाता है क्यूंकि ये Android development का official language है|

Android को डेवेलोप करने के लिए JAVA को चुना गया था क्यूंकि JAVA एक “virtual machine” का उपयोग करता है जिससे इनका Operating System का Code कई Devices और कई Processors पर चलता है|

क्यूंकि Android को कई तरह के Devices के अलग अलग hardware configurations पर चलने के लिए बनाया गया था| जैसे की Android का उपयोग कई Smartphone Companies करते है जैसे की Samsung, OnePlus, Oppo, Vivo, Xiaomi इत्यादि| और IOS का उपयोग सिर्फ iPhones में ही होता है|

JAVA को इस तरह से बनाया गया है की किसी App को बंद करने के बाद जो Memory रिलीज़ होता है, उसे वापस Device में भेजा जाता है और इस प्रक्रिया को Garbage Collection (GC) कहा जाता है|

Unused Memory (जिस Memory का कोई उपयोग नहीं है) को Garbage कहा जाता है| Unused Memory को System से Clean और Recycle करना जरुरी है ताकि अन्य Apps इसका उपयोग कर पाएगा|

Android Device को तेज़ी से काम करने के लिए Garbage collection काफी मददगार साबित होता है, लेकिन परेशानी ये है की Garbage collection के इस प्रक्रिया में काफी ज्यादा RAM का जरुरत पड़ता है|

Garbage collection में जितना Memory का जरुरत पड़ता है अगर उतना Memory किसी Phone में नहीं होता है तो Mobile का स्पीड कम होने लगता है|

इसलिए Android Phones में ज्यादा RAM दिया जाता है, ताकि Garbage collection के लिए Device में पर्याप्त Memory मौजूद हो| यही कारण है Android Phones में iPhones के मुकाबले दोगुणा या तीनगुना RAM होता है|

iPhones में कम RAM क्यूँ होता है?

Used Memory को System में वापस भेजने के लिए iPhones किसी Garbage collection का उपयोग नहीं करता है| IOS को इस तरह बनाया गया है की Used Memory को Device के RAM में वापस भेजने के लिए किसी Garbage collection जैसे प्रक्रिया का जरुरत नहीं पड़ता है|

IOS में जब किसी App को बंद किया जाता है, तब App सिर्फ RAM के memory/data का उपयोग करता है| इसलिए iPhones में Garbage collection के लिए अतिरिक्त RAM का जरुरत नहीं पड़ता है|

जितना Google का Android पर कण्ट्रोल है उससे कई ज्यादा Apple का IOS पर कण्ट्रोल है| Apple को पता होता है की इनका IOS किस तरह का Device और Hardware पर चलेगा और इसलिए iPhones काफी स्पीड काम करता है|

जैसा की हमने ऊपर बताया की Android को JAVA का उपयोग करके बनाया गया है और JAVA कई तरह के Device और Hardware पर चलता है|

इसके अलावा Android Phones में iPhones के मुकाबले ज्यादा RAM इसलिए भी होता है क्यूंकि Android में ज्यादा Bloatware होता है| और एक कारण है की Android Apps काफी Advanced होता जा रहा है, ये Apps Background में चलता है और इसलिए इसे ज्यादा RAM का जरुरत पड़ता है|

Bloatware क्या है और ये फोन में क्यूँ Installed रहता है?

ऊपर बताया गया Paragraphs से आपको पता चल गया होगा की iPhones का 4 GB RAM किसी Android Phones के 12 GB RAM से बढ़िया प्रदर्शन कैसे करता है|