दुरी के मामले में भारत का 10 सबसे लम्बा नदी

92

1. ब्रह्मपुत्र –  2900 KM 

ब्रह्मपुत्र नदी  भारत की प्रमुख नदी में से एक है और दुनिया में दुरी के मामले के सबसे लम्बा नदी में से भी एक है । ब्रह्मपुत्र नदी  चीन, भारत, भूटान और बांग्लादेश के माध्यम से बहती है |

2. गंगा – 2525 KM 

हिंदुओं के लिए सबसे पवित्र नदी जो कि इसके पाठ्यक्रमों में रहने वाले लाखों लोगों की आजीविका के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है | लेकिन दुःख की बात ये है की इसे 2007 में दुनिया का सबसे प्रदूषित नदियों में से एक माना गया था |यह उत्तराखंड से निकलती है और उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और फिर बांग्लादेश में बहती है |

3.  सुत्लेज़ – 1500 KM 

सुत्लेज़ उत्तर भारत के सबसे महत्वपूर्ण नदियों में से एक है | भारत में यह हिमाचल प्रदेश से निकलकर पंजाब तक और फिर हरयाणा में बहती है |

4. गोदावरी – 1465 KM 

भारत की सबसे लंबी नदी में गोदावरी का चौथा  स्थान  है जो भारत के माध्यम से बड़े पैमाने पर या पूरी तरह से बहता है। यह महाराष्ट्र में त्र्यंबकेश्वर से निकलता है  और तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, उड़ीसा और कर्नाटक के माध्यम से बहती है |

5. यमुना – 1376 KM 

यमुना गंगा नदी का सबसे लम्बा और दूसरा सबसे बरा सहायक नदी है | यह यमुनोत्री ग्लेशियर से निकलता  है और इलाहाबाद में गंगा  से मिलता है जो संगम के रूप में लोकप्रिय है |

6. नर्मदा – 1312 KM 

गंगा  के बाद, नर्मदा शायद भारत में दूसरी सबसे ज्यादा धार्मिक  नदी है। छत्तीसगढ़ में अमरकंटक से निकलकर  और फिर मध्य प्रदेश और गुजरात के माध्यम से बहती है |

7. कृष्णा – 1300 KM 

कृष्णा भारत की सबसे बड़ी नदी में से एक है। यह महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के माध्यम से बहती है और इन राज्यों में सिंचाई का प्रमुख स्रोत है।

8. घघारा – 1080 KM 

घघारा  तिब्बत से निकलता  है और फिर नेपाल, भारत और चीन के माध्यम से बहती है |

9. चम्बल – 960 

चम्बल इन्दोर के सामने से निकलती है और जादातर मध्य प्रदेश और राजस्थान में 960 KM बहने के बाद , उत्तर प्रदेश के जालौन जिला में यमुना की  सहायक नदी बन जाती है |

10. गोमती – 900 KM 

गोमती हिंदुओं के लिए एक और महत्वपूर्ण धार्मिक नदी है जो पीलीभीत राजस्थान से निकलता  है और फिर उत्तर प्रदेश में जाकर बहती है। 900 किमी बहने के बाद यह वाराणसी जिले में गंगा  का एक सहायक नदी बन जाती है |